All Guide About Zero depreciation meaning in hindi | जीरो डिप्रेशिएशन

Spread the love

zero depreciation meaning in hindi और जीरो डेप्रिसिएशन मतलब क्या है। आज हम डिप्रेशन का मतलब जानेंगे, डेप्रिसिएशन  का मतलब होता है कि समय के साथ किसी भी वस्तु की साथ होने वाली खराबी या उसका मूल्य का काम होना। 

जब हम किसी भी वस्तु या कोई भी चीज देते हैं तो समय के साथ उसका इस्तेमाल होता है तो उससे वह चीज खराब होती है।  उससे उसकी कीमत कम होती है उसे डिप्रेशिएशन कहते हैं।  

जीरो डिप्रेशिएशन इन्शुरन्स का मतलब क्या होता है

अब जीरो डिप्रेशिएशन का मतलब क्या होता है ,इसका इस्तेमाल कार के बिमा में होता हे या  कार इंश्योरेंस में होता है।  जब हम कार इंश्योरेंस लेते हैं तब  डेप्रिसिएशन कवर लेते ही तो  डेप्रिसिएशन को इसमें शामिल नहीं किया जाता।

 जबकि गाड़ी की वैल्यू तय की जाती है. जब गाड़ी का एक्सीडेंट या कोई हादसा होता है तो बीमा कंपनी पूरा दावे का रकम का भुगतान कर देती है. 

 यदि डिप्रेशन नहीं है तो कंपनी उसमें से उसका  डेप्रिसिएशन माइनस करके दावे की रक्कम  देती है इसे जीरो  डेप्रिसिएशन कहते हे।  

zero depreciation meaning in hindi

जीरो डिप्रेशन का मतलब होता है कि शुन्य  मूल्यह्रास या डिप्रेशन को ना पकड़ना। उसकी कीमत जब हमें उसे खरीदा उस समय के हिसाब से पकड़ना जीरो डिप्रेशिएशन का इस्तेमाल सिर्फ पहले दो क्लेम में किया जा सकता है। 

 जब आपको क्लेम देना हो या आपको कार को होने वाले भौतिक नुकसान से बचने के लिए जीरो डिप्रेशिएशन अच्छा विकल्प है। 

जब आप आपकी पॉलिसी  नयी खरीद ते हे  या रेनू करते हैं तब आप इसकी सुविधा उठा सकते हैं.  लेकिन इसके लिए आपको ज्यादा ज्यादा प्रीमियम देना पड़ेगा।

 

किसे जीरो डिप्रेशन का इंश्योरेंस करना चाहिए

 जीरो  डेप्रिसिएशन इन्शुरन्स उस सब कार मालिक  को ले जरूरी है जिनके पास गाड़ी हे।  इससे आप की बचत हो सकती है.  यह आपको बहुत फायदेमंद है जीरो डिप्रेशिएशन इंश्योरेंस इसे खरीदना क्यों चाहिए कि आज हम जानेंगे।

 १. नया ड्राइवर- 

जो नया ड्राइवर है जो अभी-अभी गाड़ी चलाना सीखा है, उसे यह फायदेमंद होगा क्योंकि अगर गाड़ी का एक्सीडेंट हुआ और उसमें गाड़ी को नुकसान हुआ तो पूरा क्लेम का पैसा मिलेगा इसमें  डेप्रिसिएशन नहीं गिनेंगे ।

२.  महंगी गाड़ी- अगर गाड़ी बहुत महंगी और लग्जरी गाड़ी है तो एक्सीडेंट होने पर डिप्रेशन वैल्यू उसकी गिनी जाएगी लेकिन अगर ज़ीरो  डेप्रिसिएशन इन्शुरन्स  में गाड़ी मालिक को कोई भी नुकसान नहीं होगा और क्लेम का पैसा मिलेगा।

 ३. कार के पुर्जे  में महंगी होना-

 अगर गाड़ी के पुर्जे बहुत महंगे हैं तो इससे गाड़ी मालिक का नुकसान होता है।  अगर जीरो  डेप्रिसिएशन इन्शुरन्स  में निकाला है तो इसको क्लेम में महंगे पुर्जे भी शामिल होंगे इससे आपके पैसों की बचत होगी।

आप हमारे दूसरे निचे दिए गए पोस्ट भी पड़ सकते हो।

  1. meaning of dividend in hindi
  2. meaning of inflation in hindi
  3. atm application  in hindi

zero depreciation car insurance के फायदे क्या होते हैं

 अगर आपने जीरो डिप्रेशन लिया है तो आपके जेब से जो अपघात  होने पर पैसा जाएगा वह बच सकेगा।

 १. गाड़ी का कोई भी  डेप्रिसिएशन  क्लेम में नहीं पकड़ा जाएगा।

२.  गाड़ी का एक्सीडेंट  होता है तो आपको क्लेम का पूरा पैसा मिलेगा और गाड़ी मालिक का नुकसान होने से बचा जा सकेगा।

३.  गाड़ी के पार्ट मेंहेगे  होने से  डेप्रिसिएशन के कारण खर्चा बहुत होता है तो बीमा क्लेम में महंगे पुर्जे का भी क्लेम होगा।

 ४. यह आपकी बेसिक कार इंश्योरेंस में फायदेमंद होगा।

zero depreciation meaning in hindi

zero dep car insurance का प्रीमियम कैसे तय होता है

नीचे दिए गए पॉइंट को प्रीमियम गिनते समय ध्यान में रखा जाता है

 १.  डेप्रिसिएशन को कम करना-  जब आपका जीरो  डेप्रिसिएशन इंश्योरेंस का प्रीमियम  गिनाते हे तब ये आपको  डेप्रिसिएशन ही वैल्यू भी इसमें शामिल करके प्रीमियम की कीमत आंकते हे। 

 २. गाड़ी कहां चलेगी- इसका मतलब है कि आपकी गाड़ी शहर या ग्रामीण भागों में चलेगी जिसे मुंबई ,दिल्ली, चेन्नई  की तुलना में काम  प्रीमियम होता है.

 ३. इंजन की  कैपेसिटी- अगर आपकी गाड़ी का इंजन कैपेसिटी वाला हे तो  आपका प्रीमियम  ज्यादा होगा और आपके इंजिन की  क्यूबिक कैपेसिटी कम होगी तो आप का प्रीमियम कम होगा।

 ४. ज्यादा सर्विस-  अगर आपके बीमा धारक को ज्यादा सर्विस या सुविधा चाहिए तो आपका  जीरो  डेप्रिसिएशन इन्शुरन्स  का प्रीमियम भी ज्यादा होगा।

५.  गाड़ी की आयु- गाड़ी की आयु प्रीमियम तय करते समय ध्यान में रखते हे अगर गाड़ी की आयु  तो प्रीमियम ज्यादा होती हे।  

 ६. बीमा का प्रकार- आपका बीमा कौन सा कवरेज देता है उस पर प्रीमियम की वैल्यू निर्धारित होती है.

 ७.  इंधन का प्रकार- डीजल, पेट्रोल, सीएनजी, इलेक्ट्रिक कारों के अलग-अलग प्रकार होते हैं उस पर उस पर  प्रीमियम तय होता है. 

 ८. दूसरे कारण- road assisatance कवरेज या अन्य कवरेज के  प्रीमियम तय होता हे।  



IRDA rule for 0 depth car insurance

१. irda  के अनुसार गाड़ी का जो भी पार्ट और एक्सेसरीज है उसके हिसाब से  डेप्रिसिएशन अलग होगा।

 २. फाइबर का जो भी फोर्ड होगा उस पर 30% डिप्रेशिएशन होगा।

 ३. प्लास्टिक रबर बैटरी,नायलॉन  पर 50% डिप्रेशन होगा।

 ४. अगर आपकी गाड़ी की उम्र 5 साल से कम है उस पर जीरो डिप्रेशिएशन इंश्योरेंस मिलेगा और गाड़ी की उम्र 5 साल से ज्यादा होगी तो उस पर जीरो  डिप्रेशिएशन  इंश्योरेंस नहीं मिलेगा।

५. डिप्रेशन इंश्योरेंस पर किए जाने वाले दावे की सीमा नहीं है आप एक से ज्यादा भी बीमा दावा कर सकते हैं.

६. कंप्रिहेंसिव के ऊपर आपको जीरो डिप्रेशिएशन इन्शुरन्स  मिलेगा मतलब आपको comprehensive insurance के फायदे भी मिलेंगे और जीरो डिप्रेशिएशन इंश्योरेंस के भी फायदे मिलेंगे। 

difference between comprehensive insurance and zero dep insurance

zero depreciation insurance comprehensive insurance ही भाग हे। अगर आपको comprehensive इन्शुरन्स के ऊपर जीरो  डेप्रिसिएशन इन्शुरन्स लेना हे तो आपको ज्यादा प्रीमियम लेना पड़ेगा। 

१. कंप्रेहनेसिवे इन्शुरन्स – इसमें  डेप्रिसिएशन को गिना जायेगा और उसके बाद क्लेम का रक्कम अदा किया जायेगा।  गाड़ी के पुर्जे पर भी  डेप्रिसिएशन को गिना जायेगा।  गाड़ी की उम्र के हिसाब से  डेप्रिसिएशन गिना जायेगा। 

२. जीरो  डेप्रिसिएशन इन्शुरन्स – इसमें  डेप्रिसिएशन को गिना नहीं जायेगा।  आपको जो भी सुविधा कम्प्रेहैन्सिव इन्शुरन्स में हे उससे ऊपर जीरो  डेप्रिसिएशन इन्शुरन्स के फायदे मिलेंगे।  गाड़ी उम्र  का सवाल  डेप्रिसिएशन में नहीं आएगा।  

अगर आपको ये zero depreciation meaning in hindi पोस्ट अच्छी लगी तो आप इसको शेयर कीजिये और निचे कंमेंट बॉक्स में कमेंट।  कीजिये 

Leave a Comment