All detail about RTGS meaning in hindi | RTGS ka full form

Spread the love

RTGS Meaning in hindi

नमस्कार दोस्तों आज हम देखेंगे कि rtgs का क्या मतलब होता है और इसका इस्तेमाल कैसे किया जाता है। हमें जब तुरंत पैसा किसी को भेजना होता है तो हम लोग बैंक में  जाते हैं और जिसको हमें पैसा भेजना है उसके खाते में पैसा जमा करते हैं. 

लेकिन जब पैसा दूर किसी को भेजना है उसका खता  दूसरे बैंक में हे तो  तब उस समय हम rtgs या neft  करते हैं। 

आजकल बैंकिंग ट्रांजैक्शन बहुत सारे बढ़ गए हैं और हमें व्यापार के सिलसिले में अक्सर पैसा जमा या  निकासी करना पड़ता है। लेकिन सरकार ने पैसा जमा निकासी करने पर टैक्स लगा दी है या उस पर चार्जेस है। 

सरकार नेट बैंकिंग या आरटीजीएस और एनईएफटी को बढ़ावा देना चाहती है. ऐसे समय में आरटीजीएस बहुत महत्वपूर्ण हो गया है। 

इसके माध्यम से हम बहुत कम समय में ज्यादा पैसा सुरक्षित दूसरे खाते में या हमारे दूसरे बैंक के खाते में जमा कर सकते हैं। आरटीजीएस कम से कम 2 लाख और  ज्यादा से ज्यादा अनलिमिटेड  पैसा भेज सकते हैं.

RTGS करने के फायदे

  1. आरटीजीएस तुरंत दूसरे या अपने दूसरे बैंक के खाते में जमा हो जाते हैं.
  2.  आरटीजीएस एक सुरक्षित यंत्रणा है और आरबीआई के नियंत्रण में होती कम समय और कम दाम में यह पैसा इधर से इस बैंक से दूसरे बैंक में तुरंत जमा होता है.
  3. ये सुविधा हर बैंक में आसानी से उपलब्ध होती है हमें नकद का इस्तेमाल नहीं करना पड़ता। 
  4. आरटीजीएस के चार्जेज  भी बहुत कम है और अगर हम बैंक में नहीं कर सकते तो हम ऑनलाइन के माध्यम से भी RTGS  ही कर सकते हैं.
आप दूसरे पोस्ट भी पढ़ सकते हे। 
you can read this – Rtgs Meaning In Marathi

RTGS के नुकसान

  • अगर आरटीजीएस किसी दूसरे बैंक में जमा करना होता उस समय हमने अगर गलत खाते का नंबर लिखा तो दूसरे के खाते में पैसा जमा होने का खतरा बना रहता है.
  • आरटीजीएस के शुल्क होते हैं वह भी हमें पे करना पड़ता है.
  • छुट्टी के समय हम आरटीजीएस नहीं कर सकते । अगर हमारे पास नेट बैंकिंग हे  तो ही छुट्टी के दिन आरटीजीएस कर सकते हैं.
  • किसी बैंक में अलग अलग अलग अलग नियम  होते हैं। अगर हमारे पास चेक बुक नहीं है तो हम आरटीजीएस नहीं कर सकते। ऐसे कई बैंकों के नियम है ऐसे समय में अगर हम चेक का इस्तेमाल नहीं करते तो हम आरटीजीएस नहीं कर सकते।
rtgs meaning in hindi

RTGS कैसे करते हैं

हमें अपने बैंक  में जाकर आरटीजीएस का एक फॉर्म लेना पड़ता है और उसे भरना पड़ता है।  उसके बाद में उसे बैंक में  जमा करना पड़ता है. अगर हमारे पास नकद है तो उसे हमारे बैंक के खाते में जमा करना पड़ता है। 

उसके बाद हम आरटीजीएस के फॉर्म में जिसको पैसा भेजने हैं उसके उसका डिटेल। उसकी सारी जानकारी उस फॉर्म में भरना पड़ता हे। निचे दी गयी जानकारी भरना पड़ती हे 

  • IFSC CODE 
  •  बैंक का नाम
  •  उसके ब्रांच का नाम
  •  उसका अकाउंट नंबर
  • राशि 

ये सब  डालने के बाद हम वह फॉर्म बैंक में जमा करते हैं, उसके बाद ही आरटीजीएस होता है। अगर आपके खाते में चेक हे तो  चेक लगाना होता है। 

तो हमें अगर चेक या  विड्रोल स्लिप दोनों में से कोई भी चलता है तो हमें वह पूरा भरके  उसके साथ जोड़ना पड़ता है.

RTGS Meaning in hindi

आरटीजीएस का मतलब क्या हे , या RTGS MEANING IN HINDI –  रियल टाइम ग्रॉस सेटेलमेंट { इसका मतलब है कि एक निश्चित समय में पैसा जमा होना या रियल टाइम में पैसा या RTGS का प्रोसेस होना। 

आरटीजीएस मैक्सिमम डेढ़ घंटे में आपके खाते में पैसा जमा होता है। रियल टाइम होता है मतलब जिस समय आप आरटीजीएस करेंगे उसी समय उसका प्रोसेस शुरू हो जाएगा। 

लेकिन NEFT  में ऐसा नहीं होता NEFT  में BATCH  के हिसाब से प्रोसेस होता है। बैच  में जितने एनएफटी  इकट्ठा होने  के बाद उसका प्रोसेस होता है। 

इसलिए NEFT में  पैसा जमा होने में समय लगता है. लेकिन आरटीजीएस में पैसा तुरंत जमा होता है। 

RTGS and NEFT diffrence in hindi

RTGS in hindi

rtgs दो लाख या  उसके ऊपर की रकम के लिए आरटीजीएस का इस्तेमाल किया जाता है.

RTGS में  बहुत कम समय में जिनके खाते में हमें पैसा भेजना है उनके खाते में पैसा जमा होता है.

आरटीजीएस का शुल्क एनएफटी के शुल्क से भी थोड़ा सा ज्यादा होता है.

Rtgs full form in hindi –  Real Time Gross Settlement

NEFT in hindi 

NEFT में आप एक रुपए से और लिमिटेड पैसा दूसरे के खाते में पैसा भेज सकते हो.

निफ्टी में लगने वाला शुल्क RTGS  के तुला में बहुत कम होता है.

NEFT में  पैसा जमा होने में कम से कम 4 घंटे और ज्यादा से ज्यादा 48 वर्ष का समय लगता है.

Neft full form in hindi – National Electronic Funds Transfer 

RTGS और IMPS में क्या अंतर है

  • IMPS  हम नेट बैंकिंग, इंटरनेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग से करते हैं।
  •  हम बैंक में जाकर आइएमपीएस नहीं कर सकते। 
  • IMPS  की सर्विस चौबीसों घंटे चालू रहती है और आइएमपीएस करने में कोई शुल्क नहीं रहता।
  •  हम आईपीएस के द्वारा पैसे भेज सकते हैं वह भी 0 से 200000 तक ही पैसे भेज सकते हैं, लेकिन निफ्टी में हम दोनों के ऊपर का और कम है वह भेज सकते हैं और आरटीजीएस हम बैंक में भी कर सकते हैं .
  • आइएमपीएस निशुल्क है उसके लिए कोई चार्जेस नहीं लगता. लेकिन RTGS  करने में आपको चार्जेस देने  पड़ते हैं। अगर आप बैंक से इन आरटीजीएस करते हैं तो आपको पैसे देने पड़ेंगे।  
  • अगर आप मोबाइल में से आरटीजीएस करते हैं तो आपको कोई शुल्क नहीं लगेगा।

आपको ये RTGS meaning in hindi पोस्ट अच्छी लगी हे तो आप आपके सभी दोस्तों को शेयर कीजिये और निचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट कीजिये। 

Leave a Comment