Home Loan Ki Jankari Hindi Me

Home Loan Ki Jankari Hindi Me

Spread the love

कई लोगोका ये सपना होता हे की उनका एक एक अच्छा माकन हो. ये सपना पूरा करने के लिए हर एक आदमी कोशिश करता हे. पैसे बचा बचा कर मकान बनाते हे ये सपना पूरा करने में होम लोन एक बहोत बड़ा रोल निभाता हे.हम इस ब्लॉग में Home Loan Ki jankari Hindi Me देखेंगे .

होम लोन लेने के लिए एक प्रोसेस होता हे उस प्रॉसेस को पूरा करना जरुरु हे. होम लोन सैंक्शन अपने आय पर निर्भर होता हे .आपकी आय या पगार कीतिनि हे इस पर बैंक आपको होम लोन की रक्कम निर्धारित करता हे। 

होम लोन लेने के लिए डाक्यूमेंट्स की पूर्तता करना भी बहुत जरुरी होता हे।
होम लोन आपके प्रॉपर्टी के ८० तो ९० % वैल्यूएशन के हिसाब से मिलता हे. होम लोन आपको मकान बननाने से लेकर जमीं खरीद कर मकान बनाने तक और रौ हाउस ही या फ्लैट लेने तक मिल सकता हे।

होम लोन किसको मिल सकता हे/Home Loan Kise Mil Sakata He

home loan ki jankari hindi me

होम लोन के प्रकार/Home Loan Ke Type

रेडी पोजीशन – 

मकान खरीदने के लिए , सीधा बिल्डर से मकान खरीद ने के लिए बैंक लोन देती हे. ये लोन एक सामान्य लोन हे जो बैंक प्रदान करता हे.  इस लोन में ग्राहक किसी से घर खरीदता हे ये मकान पहलेसे बनाया होता.  हे चाहे ये बिल्डर ने बनाया या किसी पहले मालिक ने बैंक उस प्रॉपर्टी के ५० तो ७० % तक लोन देता हे  

 कम्पोज़िट लोन – इस लोन के प्रकार में बैंक जमीन खरीद के साथ मकान बनाने के लिए ऋण देती हे। 

इस लोन में बैंक पहले जमीन खरीद के लिए पैसे देती हे और बाद में निर्माण के लिए थोड़े थोड़े अवधि में पैसे मुहैया कराती हे। 

घर बनाने के लिए लोन – घर बनाने के लिए लोन लेना इस होम लोन प्रकार में हम खुद से मक्कन बनाते हे या किसी बिल्डर से घर बनवाते हे ये एक साधारण लोन का प्रकार हे जो लोक बैंक से मंगाते हे। 

घर के मरम्त के लिए – घर के मरम्त के लिए भी बैंक लोन की सुविधा उपलब्ध कराती हे. अगर हमारा घर जो हे उसमे कुछ नया बनवाना हो या गिरा हुवा या क्षतिग्रस्त हिस्सा ठीक करवाना हो . इस लिए बैंक लोन की सुविधा उपलब्ध कराती हे।.  

होम लोन व्याज के प्रकार

होम लोन जिस व्याज पर मिलते हे उस में दो प्रकार होते हे 

१. फिक्स्ड व्याज होम लोन – इस प्रकार के लोन में बैंक एक फिक्स व्याज दर से ऋण देता हे जिसमे कभी बी व्याज दर बदलता नहीं। 

आपका emi कभी नहीं बदलेगा अगर होम लोन की व्याज दर काम भी होते हे तो भी इसमें व्याज दर वही रहेगा जिसमे अपने लोन लिया हे.  इस लोन के प्रकार में एक नुकसान ये हे की अगर व्याज दर काम होता हे तो इसका फायदा आपको नहीं मिलेगा। 

२. फ्लोटिंग होम लोन रेट – इस लोन के प्रकार में लोन के व्याज दर बदलते रहते हे कम या ज्यादा होते रहते हे ये व्याज दर दो बेसिस पर निर्धारित होते हे। 

इंडेक्स और स्प्रेड। इंडेक्स बेंचमार्क दर (जैसे बेस रेट, MCLR, और रेपो रेट) बाज़ार की स्तिथि पर निर्भर होती है.  वहीं स्प्रेड वो राशि होती है जो बैंक क्रेडिट जोखिम, प्रोफाइल मार्क-अप जैसी और भी ज़रुरतों को कवर करने के लिए जोड़ता है।

स्प्रेड एक बैंक से दूसरे बैंक में भिन्न होती है और आमतौर पर पूरे लोन अवधि के दौरान स्थिर रहता है.   हालांकि, इंडेक्स RBI की पॉलिसी और अन्य बाहरी कारकों के अनुसार बदल जाती है, जिससे होम लोन की ब्याज दरें बदल जाती हैं।

होम लोन लेने की योग्तया

होम लोन किसी को भी नहीं मिलता होम लोन लेने के लिए भी योग्तया चाहिए होती हे।  बैंक और फिनानके कंपनी ने कुछ नियम और शर्ते रखी हे जिसके अनुसार ही होम लोन मिलता हे।  होम लोन की योग्तया आज हम देखते हे। 

१. आयु – होम लोन लेने के लिए ऋण आवेदक की आयु १८ साल से ऊपर और  अधिकतम ७० साल तक होनी चाहिए।  

२. राष्ट्रीयता – ऋण आवेदक भारतीय होना चहिये।  या NRI या भारतीय मूल का व्यक्ति POI होना चाहिए।  

३. अनुभव – ऋण आवेदक जहा नौकरी कर रहा हे  वह का कम से कम २ साल का अनुभव होना चाहिए।   अगर ऋण आवेदक बिसनेस करता हे तो कम से कम ३ साल का अनुभव होना चाहिए।  

४. महीने की सैलरी या आय – ऋण के आवेदक की महीने की सैलरी कम से कम २५००० तक होनी चाहिए . अगर वो बिसनेस करता हे तो काम से काम २०००० तक होना चहिहै।  हर बैंक या फाइनेंस के इंस्टीटूशन अलग अलग क्राइटेरिया रकते हे।  

५. क्रेडिट स्कोर – ऋण आवेदक का क्रेडट स्कोर ७५० से आगे होना चाहिए उसका सिबिल स्कोर अच्छा होना चाहिए।  

 

होम लोन के कागजात/Home Loan Ke Document Hindi Me

होम लोन लेने के लिए बैंक कागजात मांगते हे उस कागज को देना बंधनकारक होता हे। आपके कागज के आधार पे ही बैंक होम लोन की मर्यादा निर्धारित करता हे। निचे हम आपको होम लोन के कागज बताएँगे। Home Loan ki jankari hindi me मिलाने से आपको जो डॉक्यूमेंट चाहिए वो भी आसानीसे समज में आएंगे 

१. होम लोन आवेदन फॉर्म – होम लोन आदेवन फॉर्म ठीक से भरके जमा करना पड़ता हे।
२. पासपोर्ट साइज के फोटो
३. पहचान पत्र – आपका आधार कार्ड ,इलेक्शन कार्ड ,ड्राइविंग लाइसेंस कार्ड,इनका ज़ेरॉक्स
४. रेजिडेंस या रहिवासी का प्रमाणपत्र – आधार , पासपोर्ट , इलेक्शन कार्ड , ड्राइविंग लाइसेंस इनमे से कोई भी एक डॉक्यूमेंट चाहिए।
५. आय प्रमाण – आपका फॉर्म १६ , ITR RETURN FORM , बैंक का पिछले ६ महीने का स्टेटमेंट , आपके निवेश जैसे की LIC इन्वेस्टमेंट।
६. अगर आपकी फर्म हो तो आय प्रमाण – ITR RETURN ३ साल के , फर्म की बैलेंस शिट , फर्म की लाभ और हानि की डिटेल्स , बिसनेस के लाइसेंस के प्रमाणपत्र , और अन्य लाइसेंस के कागज।
७. प्रॉपर्टी के दस्ताविज – आप जिस जमीं पर घर बनवा रहे उस जमीं के कागज खरीद के कागज , बिल्डर से NOC या मुन्सिपल कारपोरेशन से NOC , घर में लगने वाली वाले मूल्य का विस्तृत अनुमान AUTHORISED व्यक्ति से , रजिस्टर्ड सेल एग्रीमेंट , आवंटन पत्र और बिल्डिंग योजना की एक मंज़ूरी की कॉपी।

होम लोन पर मिलाने वाला टैक्स के लाभ

अगर अपने होम लोन लिया हे तो आपको सेक्शन 8० C के तहत मूल रकम की अदायगी पर सालाना 1.5 लाख रुपये तक की टैक्स छूट शामिल है.और उसके साथ ही सेक्शन 24 के अंतर्गत किसी वित्त वर्ष में ब्याज के देने  पर 2 लाख रुपये तक की छूट  भी मिलती है. 

होम लोन की इन टैक्स छूट लाभ को सिर्फ रु. 45 लाख तक के स्टैंप वैल्यू वाले मकान खरीदने पर ही क्लेम किया जा सकता है.

 घर का मालिक 31 मार्च 2021. तक होम  लोन पर मिलाने  होने वाले लाभों पर क्लेम कर सकता है. इस प्रकार, उधारकर्ता अधिकतम रु. 7 लाख की इनकम टैक्स कटौती के लिए क्लेम कर सकते हैं.

१. सेक्शन 80C  पर मिलाने वाला लाभ – मूल लोन की राशि  पर अपनी टैक्सेबल आय से अधिकतम रु. 1.5 लाख तक का क्लेम कर सकते हे . इसमें स्टांप शुल्क और रजिस्ट्रेशन शुल्क भी शामिल हो सकते हैं, लेकिन ये  केवल एक बार क्लेम किया जा सकता है.

२. सेक्शन 24

जो व्याज हम लोन पे देते हे उसके  पर अधिकतम रु. 2 लाख तक की कटौती का लाभ उठा सकते हे.   लेकिन हम इसका लाभ केवल तभी उठा सकते हे जब हम मकान का निर्माण ५ साल के भीतर करवाते हे तब. 

 अगर यह इस समय सीमा के भीतर आपका माकन निर्माण खत्म नहीं होता है, तो आप केवल रु. 30,000 तक का क्लेम कर सकते हैं

 

होम लोन नाकारा जाने के कुछ कारन/Home Loan Nakara Jane Ke Karan

home loan ko jankari hindi me

१. आपका क्रडिट स्कोर काम होना या ख़राब होना – अगर आपका क्रडिट स्कोर बहुत काम हे तब भी बैंक आपका लोन रिजेक्ट कर सकती हे।  कई समय पर हम अपने पाहिले लोन ठीक से नहीं चुकाने पर हमारा  क्रेडिट स्कोर  ख़राब होता हे उस समय पर भी बैंक हमें ना कह सकती हे।  

२. कागज या डॉक्यूमेंट सही नहीं होना। 

३. आपकी आयु बहुत कम या बहुत ज्यादा होना 

४. आपकी लोन भुगतान की क्षमता के कारन बैंक कभी कभी आपका लोन रिजेक्ट कर सकती हे।  

५. प्रॉपर्टी का स्थान और प्रॉपर्टी की वैल्यूएशन काम होना।  

ऊपर दिए हगए कारन की वजसे बैंक आपका होम लोन रिजेक्ट कर सकते हे। 

 

होम लोन समय से पहले चुकाना/Home Loan Ko Samay Se Pahale Chukana

हम होम लोन कभी भी वापस दे सकते और भर सकते हे। इसपर कोई बंदन नहीं हे की इसे समय से पहले चूका सकते हे या नहीं।

पधानमंत्री आवास योजना के तहत होम लोन

जिन लोगो का आय मध्यम या कम हो सर्कार ने प्रधान मंत्री आवास योजना ये स्कीम लायी हे।  इस में व्यक्ति घर खरीद या बनाने पर जो लिया हे उस लोन के व्याज पर सब्सिडी देते हे.  ब्याज़ सब्सिडी का लाभ बकाया मूल राशि पर पहले मिलेगा.एक लाभार्थी परिवार में पति, पत्नी, अविवाहित बेटे और/या अविवाहित बेटियां शामिल होंगी.
कमाई करने वाले व्यक्ति (चाहे वैवाहिक स्थिति कुछ भी हो) को एक अलग हाउसहोल्ड के रूप में माना जा सकता है

प्रधानमंत्री आवास योजना में मध्यम आय वर्ग के ऐसे लोगों को जिनकी सालाना आय 6 लाख से 12 लाख रुपए के बीच है, उन्हें 9 लाख रुपये के 20 साल अवधि वाले घर कर्ज 4 फीसदी की ब्याज सब्सिडी मिलेगी

जिन लोगों का इनकम तीन लाख रुपये सालाना से कम है वे इकनोमिक बैकवर्ड कैटगरी में आते हैं. ६ लाख रुपये सालाना तक कमाने वाले लोग LIG में आते हैं. 

इन दोनों कैटेगरी में प्रध राधान मंत्री आवास योजना के तहत छह लाख रुपये तक के लोन पर 6.5 फीसदी तक ब्याज सब्सिडी का फायदा उठाया जा सकता है.

इस तरह home loan ki jankari hindi me मिलनेसे आपको होम लोन मिलने में आसानी होगी .  जिन लोगो को इंग्लिश की समज नहीं उन लोगो को  home loan ki jankari hindi me  मिलनेसे होम लोन को प्रोसेस और डाक्यूमेंट्स आसानीसे समज में आ जाएगी 

अटल पेंशन के बारे में जानने के लिए इस लिंक पर क्लीक कीजिये – atal pension yojna in hindi

Manoj

I am a banker and personal finance manager. I have more than 7 years of experience in the banking industry.

Leave a Reply