दीपावली पर निबंध | diwali par nibandh for students in india.

Spread the love

आज हम दीपावली पर निबंध | diwali par nibandh लिखेंगे।  ये निबंध आपको स्कूल में जरूर पूछते होने। इस निबंध के मदत से आप आराम से एक अच्छा दिवाली  लिख सकते हो।  दिवाली एक बड़ा त्योहार  होता हे इसे देश में बड़ी दम धाम से मानते हे।  तो चले इस पर निबंध लिखे।

दीपावली निबंध

दिवाली का मतलब है जश्न , दिवाली का मतलब है खुशियां, दिवाली का मतलब है छुट्टियां ,दिवाली  का मतलब है मिठाईया ,फटाके।  छोटा हो या बड़ा  हर किसी को दिवाली का इंतजार रहता है। 

 छोटा हो या बड़ा हो गरीब यो या आमिर हर  कोई दिवाली त्योहार को आने का इंतजार करता है। इसी दिन प्रभु श्री राम रावण का वध करके अयोध्या को  लौटे थे. इसी के रूप में दिवाली को मनाते हैं। 

हमें दिवाली पर छुट्टियां मिलती है। हम दिवाली त्योहार की तैयारी कुछ दिन पहले से ही करते हैं. हम घर के सभी लोग कुछ दिन पहले नए कपड़े खरीदने के लिए बाजार में जाते हैं। हम सभी लोग बाजार में जाकर नए कपड़े और पटाखे खरीदते हैं। 

घर को सजाने सजाने के लिए लाइट बल्ब, रोशनी ,दिप फूल  सजाने के लिए खरीदते हैं। कार्तिक अमावस्या के दिन दीपावली अति  है और इसे बड़ी धूमधाम से मनाते हैं।  दिवाली के दिन घर को सजाया जाता है हर घर की तरफ दीप लगाए जाते हैं, घर के सामने रंगों से रंगोली और फूलों से सजावट की जाती है। 

this read also –mul sankya ani 1 te 100 sankya

 

दीपावली पर लेख | diwali par nibandh

यह त्यौहार असत्य पर सत्य की विजय का प्रतीक माना जाता है। दिवाली के दिन बाजार में बहुत भीड़ होती। हर जगह सामान खरीदने के लिए भीड़ रहती हे। दीपावली चार दिनों तक चलती है. पहले दिन में धनतेरस आता है, दूसरे दिन छोटी दिवाली या नरक चतुर्थी, तीसरे दिन बड़ी दिवाली चौथे दिन गोवर्धन और पांचवे दिन बाई दूज। इस तरह 5 दिन दिवाली मनाई जाती है। 

पहले दिन धनतेरस के दिन लक्ष्मी  और गणेश की पूजा की जाती है. हर कोई अपने घर में लक्ष्मी की पूजा करते हैं। व्यापारी दुकान में लक्ष्मी को पूछते हैं और नया बहीखाता बनाते हैं ,उसके साथ ही पैसों को भी पूजा जाता है।

 दूसरे दिन आता हे  नरक चतुर्थी इसी दिन श्री कृष्ण ने नरकासुर का वध किया था। नरेश चतुर्थी के दिन भगवान श्री कृष्ण की पूजा की जाती है और  मंदिरों में भगवान को पूछने के लिए भीड़ रहती है। 

 2 दिनों के बाद बड़ी दिवाली आती है  इस दिन पटाखे फोड़े जाते हैं, मिठाई बांटी जाती है, लोग एक दूसरे के घर जाकर मिठाई बांटते हैं और दीपावली की शुभकामनाएं देते हैं। 

चौथे दिन गोवर्धन की पूजा आती है इसी दिन भगवान श्री  कृष्ण ने गोवर्धन पर्वत उठाया था अपनी उंगली में उठाया था।  इसलिए इसी दिन को लोग पूछते हैं और मनाते हैं इसी दिन लोग अपने घर में घर के चौखट में गाय के गोबर से को लगाके उसकी पूजा करते हैं।

 पांचवा दिन भी बहुत अच्छा या शुभ दिन होता है इस दिन दीपावली को मनाया जाता है उस दिन बहन  अपने भाई को पूजते  हैं मिठाइयों के साथ गिफ्ट भाई अपने बहन को देता है।  इस 5 दिन में दिवाली को मनाया जाता है. 5 दिन में बहुत खुशियां होती है।

दीपावली के दिन अनेक लोग इस शुभ दिन पर खरीदारी करते हैं कोई गाड़ी खरीदा है, कोई नया घर खरीदा है, या नए कोई वस्तु जैसे वॉशिंग मशीन, फ्रीज टीवी इनकी खरीदारी होती है।  5 दिन बहुत शुभ दिवस होते हैं। इन दिवाली के दिन  विक्रमादित्य को अपने देश का  राजा चुना था और उनका राज्य भिषेक  हुआ था। दीपावली के दिन ही महावीर उनका महानिर्वाण हुआ था.

 

 दीपावली के दिन बच्चे बहुत खुश होते हैं। उनको नए कपड़े और पटाखे फोड़ने के लिए मिलते हैं. बच्चे दिन भर पटाखे फोड़ते हैं और मिठाई खाते हे।  

बड़े बुजुर्गों सब एक साथ आते हे  अपने रिश्तेदारों से मिलते हैं और उनको एक दूसरे को मिठाइयां बांटकर दीपावली की शुभकामनाएं देते हैं। बाजारों में भी बहुत भीड़ रहती है दुकानें सज धज कर रहते हे।

 इन दिनों नई गाड़ियां या नए घर में प्रवेश किया जाता है। धनतेरस के दिन धन्वंतरी जयंती के रूप में भी मनाया जाता है।  धनवंतरी वैद्य के शिरोमणि थे ,इसलिए उसी दिन उनको पूछते हैं। 

 

दीपावली हिंदू धर्म का सबसे बड़ा त्यौहार होता है।  सिर्फ भारत में नहीं बल्कि पूरी दुनिया में दिवाली को  मनाया जाता है। अमेरिका, इंग्लैंड, फ्रांस, कनाडा यह दुनिया का कोई भी कोना हो वहा  दीपावली को मनाया जाता है। 

जो भारतीय दूसरे देश में रहते हैं वह इसे बड़ी धूमधाम से मनाते हे।  दिवाली को मुख्य रुप से श्री प्रभु राम अयोध्या में लौटने की खुशी में मनाया जाता है वह अपना 14 साल का वनवास खत्म करके अपने भाई लक्षम्ण और पत्नी सीता के साथ अयोद्या  आये  थे। 

उस समय अमावस्या की रात थी अमावस्या रातों से  बहुत अंधेरा होता है तो अंधेरा दूर करने के लिए अयोध्या में दीप जलाए थे। तो इसलिए उसे दीपावली कहते हैं। 

 

आज हमने दीपावली निबंध |  diwali par nibandh लिखा ये निबंध अगर आपको अच्छा लगा हो तो आप अपने मित्रो को शियर कीजिये और निचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट कीजिये।

हमारे ये आर्टिकल भी पढ़े –

  1. rtgs meaning in hindi
  2. ifsc code meaning in hindi
  3. leave letter to principle for  sister marriage

Leave a Comment