In Detail Meaning of Dividend In Hindi In 2021 | dividend kya hota he

Spread the love

लाभांश  का मतलब होता है या Meaning of dividend in hindi  कि कंपनी अपने शेयरधारकों को अपना जो भी चालू साल में मुनाफा हुआ है उसे सभी को समान रूप से देना .

जब कंपनी को मिला ज्यादा मुनाफा होता है तो कंपनी उसे अपने शेयरधारकों में बांट देती है .जब कंपनी डिविडेंड देती है तब share holder  के पास उस समय से पहले शेयर होना चाहिए .तब जाकर उसे डिविडेंड मिलता है .

कभी-कभी कंपनी dividend  के रूप में पैसा आया अतिरिक्त शेयर भी देती है.

 लाभांश के  कुछ तथ्य

  1.  लाभांश  केवल कंपनी नहीं बल्कि म्युचुअल फंड और ईटीएफ यानी एक्सचेंज ट्रेडेड फंड भी देती है
  2.  ज्यादातर कंपनियां लाभांश  के रूप में पैसा देती है लेकिन शेयर  भी देती है
  3.  Dividend कंपनी अपने शुद्ध मुनाफे से देती हैं ज्यादातर मुनाफा कंपनी अपने व्यवसाय को बढ़ाने या भविष्य के लिए रखती है .लेकिन कुछ कंपनियां उसे अपने शेयर धारकों में बांट देती है
  4.  हर साल जब बोर्ड मीटिंग होती है. तब इस पर फैसला आता है कि dividend  देना है या नहीं देना.
  5.  कई कंपनियां dividend  देना जारी रखती है .जब उनको उचित मुनाफा ना हो .कंपनियां डिविडेंड रेगुलर देती है क्योंकि उन पर निवेशकों का भरोसा रहे और उनका रिकॉर्ड भी अच्छा रहे.
  6.  कंपनियां हर साल डिविडेंड देती है ,लेकिन इसे 3 महीनों में या 6 महीनों में मतलब साल में 4 बार या दो बार भी कंपनी डिविडेंड देती है. अमेरिका में कई कंपनियां साल में चार बार या दो बार भी डिविडेंड देती है.
ऊपर दिया गया विश्लेषण से आपको dividend meaning in hindi में समज जायेगा की डिविडेंड क्या होता हे।  
अगर आपको फ्यूचर और ऑप्शन के बारे में जानना हे तो इस आर्टिकल पर जाईये  – Future And Option Trading Basics In Hindi
dividend meaning in hindi language

Dividend कैसे दिया जाता है

कंपनी अपना डिविडेंड देने का निर्णय अपने बोर्ड मीटिंग में लेती है .इसके बाद उसे जारी किया जाता है .एक फिक्स डेट को दिया जाता है .उसे payable date कहां जाता है .

डिविडेंड सभी को समान रूप से दिया जाता है .मतलब अगर शेरहोल्डर प्रेफरेंस ग्रुप में है तो उसे उन्हें सभी को समान रूप से निवेदन दिया जाता है. लेकिन अलग group  को अलग डिविडेंड दिया जाता है. 

नीचे दिए गए स्टेप्स के अनुसार कंपनी डिविडेंड को जारी

  1.  कंपनी अच्छा कारोबार करती है और उसे प्रॉफिट होता है.
  2.  कंपनी जो प्रॉफिट होता है उसका टैक्स pay करता है
  3.   बोर्ड मीटिंग होती है उसमें डिविडेंड देना है ,या नहीं देना उसका निर्णय लिया जाता है.
  4.  डिविडेंड कितना देना है. कब देना है इसका निर्णय बोर्ड लेती है.
  5.  सब प्रोसेस होने के बाद डिविडेंड दिया जाता है.
  6. defination of education
 
read also this –   sample application for job 

डिविडेंड के कौन-कौन से प्रकार हैं

डिविडेंड के अनेक प्रकार होते हैं जिन्हें कंपनी अपने निवेशकों को देती है.

  1.  असेट-  कंपनी अपने निवेशिकों को केवल पैसे नहीं देती .लेकिन वह उन्हें कुछ संपत्तियां भी देती है लेकिन ज्यादातर कंपनियां पैसे  देना पसंद करती हैं .
  2. स्टॉक-  कंपनी डिविडेंड के रूप में स्टॉक को देना भी पसंद करती है .जैसे एक के बदले और एक.
  3.  कैश-  अक्सर कंपनियां dividend  के रूप में कैश  देती है .कंपनी अपने निवेशकों को चेक से cash  देती है.
  4.  Preferred Dividend –  ए जो डिविडेंड है उसे prefered share   होने परदिया जाता है. इसे हर 3 महीने में एक फिक्स अमाउंट दिया जाता है या  6 महीने पर दिया जाता है जो bond होते हैं उस पर यह डिविडेंड दिया जाता है.

डिविडेंड कौन सी कंपनी देती है

 ज्यादातर बड़ी कंपनियां अधिक समय से बिजनेस कर रही है और उनकी बैलेंस शीट अच्छी है वही देती है . कंपनी अपने ग्रोथ करने के बजाय अपने निवेशकों को  डिविडेंड देती है .कुछ ऐसे हैं जो हमेशा डिविडेंड देते हैं या उनकी देने की है हिस्ट्री हे .

  1.  बैंकिंग सेक्टर
  2.  हेल्थ  सेक्टर
  3. ऑयल सेक्टर
  4.  रियल इस्टेट सेक्टर
dividend meaning in hindi

Importance of dividend in hindi

  1.  रेपुटेशन-  कंपनी को अपना अच्छा reputation बनाने में मदद करती है .डिविडेंड जो कंपनी लगातार डिविडेंड देती है उसकी मार्केट में अच्छी reputation बनती है इसलिए कंपनियां डिविडेंड देना पसंद करती है.
  2.  निवेशकों का भरोसा-  कई कंपनियां शेरहोल्डर का भरोसा अपने ऊपर रहने के लिए डिविडेंड हर साल देती है. जिन कंपनियों की बैलेंस शीट अच्छी होती है और मुनाफा भी अच्छा होता है वह डिविडेंड देती है .डिविडेंड देने से शेयर होल्डर का कंपनियों पर भरोसा रहता है कि वह अच्छी ग्रोथ कर रही है और मुनाफा कमा रही है.
  3.  ग्रोथ को दिखाना-  कंपनियां अपनी ग्रोथ को दिखाने के लिए डिविडेंड हर समय या हर साल देती है . जो कंपनियां डिविडेंड देती है उसका मतलब है कि वह मुनाफा कमा रही है और उसे मार्केट में उनकी ऊपर ट्रस्ट  है. जिससे उनके और निवेशकों का भरोसा भरोसा बढ़ता है इस वजह से उनकी कंपनियों में निवेश होता है.

Impact of dividend

कंपनी जो dividend  देती है उसका असर सीधे तौर पर उनके स्टॉक पर होता है और उसे खर्च समझकर cash  कम रखने का एक स्रोत भी समझा जाता है .उसे कंपनी अपनी कमाई को बरकरार रखती है.

  1.  कैश फ्लो –  डिविडेंड के  लिए हम  cash इसका इस्तेमाल करते हैं .इससे हम cash  इसका इस्तेमाल कर रहे हैं ऐसा दिखता है.
  2.  Retained earning –  कंपनी  Retained earning को कम किया इसे दिखाने के लिए भी दे सकती हैं. 
  3.  स्टॉक प्राइस-  डिविडेंड देने से share  पर भी असर होता है.  जिस दिन डिविडेंड देते हैं उस दिन स्टॉक का प्राइस कम होता है.

How to calculate dividend income in hindi

 डिविडेंड को dividend yield से कैलकुलेट करते हैं डिविडेंड को गानना करने के लिए प्रति शेयर वार्षिक लाभांश को प्रति शेयर आय से विभाजित किया जाता है.

 

 लाभांश भुगतान अनुपात –  भुगतान किया गया लाभांश/  रिपोर्ट की गई शुद्ध आय

 ऊपर दिए गए फार्मूले से डिविडेंड यील्ड को निकाला जा सकता है

 

Impact of dividend on share

 कंपनी अपने प्रॉफिट से डिविडेंड देती है उसका सीधा असर शेयर प्राइस पर होता है . डिविडेंड वापस आने वाला नहीं मतलब dividend  के रूप में जो भी पैसा दिया गया है वह वापस नहीं आएगा. 

उसे से कंपनी की आई नहीं बनती तो इसका नेगेटिव इंपैक्ट होता है.

 उदाहरण के लिए जब हम dividend घोषित करते हैं तब कंपनी का शेयर rs. 10 पर  trade कर रहा है और उस दिन लाभांश rs. 1 घोषित होता है. 

तो सब शेयर rs.11 पर बढ़ गया.  लेकिन  लाभांश  घोषित होने के अगले दिन  जब dividend घोषित होता है तो वह शुरुआती दिन या  जब मार्केट खुलता है .

तब वह rs. 10 से खुलेगा मतलब एक रुपए से कम खुलेगा. इसका कारण यह है कि नए नए शेयरधारकों को इसका लाभ मिल ना सके .इसलिए यह सुबह rs. 10 से ही  खुलता है

कंपनियां डिविडेंड क्यों देती है

 कंपनियां डिविडेंड देने को कई कारण होते हम इसे  अच्छे से जानेंगे

  1.  ट्रेक रिकॉर्ड-  कंपनी अपना रिकॉर्ड को अच्छा बनाने के लिए डिविडेंड देती है .इसे कंपनी को एक अच्छा मुनाफा कमाने वाली कंपनी समझा जाता है और शेरहोल्डर इस कंपनी से जुड़े जा सकते हैं.
  2.  विश्वास-   मार्केट में अपना विश्वास बनाए रखने में कंपनी  कंपनी को डिविडेंड  देने से मदद होती है . share holder के मन में कंपनी के प्रति विश्वास रखने में मदद करता है
  3.  पॉजिटिव इंपैक्ट-  कंपनी अच्छा मुनाफा कमा रही और अच्छा प्रदर्शन कर रही है इसलिए वो डिविडेंड दे रही है.
  4.  सिग्नल-  अगर कंपनी dividend  बंद करते हैं तो इसे शेयर धारकों को समझाता है कि कंपनी का प्रदर्शन खराब हो रहा है और उनका मुनाफा कम हो रहा है.

 

 conclusion

दे गए सारे तथ्य से आपको समझ में आया होगा कि meaning of dividend in hindi ,डिविडेंड क्या होता है और डिविडेंड क्यों दिया जाता है ,डिविडेंड कैसे दिया जाता है . आर्टिकल आपको अच्छा लगा तो आप इसे शेयर कीजिए और  नीचे दिए गए कमेंट  बॉक्स  में कमेंट कीजिए.

Leave a Comment