In Detail know About Cryptocurrency Meaning In Hindi | क्रिप्टो करेंसी क्या है .
cryptocurrency meaning in hindi

In Detail know About Cryptocurrency Meaning In Hindi | क्रिप्टो करेंसी क्या है .

Spread the love

Meaning of cryptocurrency in hindi 

दुनिया में एक नयी currancy के बारे में जानने की होड़ मची हुयी हे।  लोक हर जगह ढूंढ रहे हे की what is cryptocurrencyऔर what is cryptocurrency meaning in hindi।

cryptocurrency यह एक डिजिटल चलन ये जिसे एक उन्नत cryptocurrency टेक्निक के द्वारा  नियंत्रित और सुरक्षित किया जाता हे। 

 कई क्रिप्टोकरेंसी विकेंद्रीकृत नेटवर्क हैं जो ब्लॉकचेन तकनीक पर आधारित हैं. इस black chain टेक्निक को Satoshi Nakamoto ने खोज लिया था।  

इस cryptocurrency को  किसी भी देश की सरकार नियंत्रित नहीं करते। 

ये डिजिटल चलन एक नेटवर्क पर आधारित डिजिटल संपत्ति का एक रूप है जिसे बहुत सारे कंप्यूटर में हस्तारित किया जाता हे।  

ये एक दिखने वाला पैसा नहीं हे लेकिन आप किसी को भी एक मूल्य हस्तांतरित कर सकते हो जैसे  डिजिटल पेमेंट करते हे उस तरह।  

अगर आपको क्रेडिट कार्ड कैसे बनाते हे वो जानना चाहते हो तो इस लिंक पर क्लिक कीजिये 

cryptocurrency  के प्रमुख बिंदु 

१. ये cryptocurrency टेक्नोलॉजी बहुत बड़े स्तर पर banking, finance, और दूसरे business को बदल  सकती हे।  

२.   cryptocurrency ये एक डिजिटल चलन हे जो डॉलर,येन , रुपया जैसे चलन से अलग हे ये एक आभासी चलन हे जिसे आप छू नहीं सकते या देख नहीं सकते।  

३. इस की कीमत हर दिन बदलती रहती हे इसकी कीमत डिमांड एंड सप्लाई पर निर्धारित होती हे जिससे इसमें रिस्क बाद जाती हे।  

४।  आसानी से हस्तांतरित मुद्रास्फीति प्रतिरोध, और पारदर्शिता के लिए भी जाना जाता हे और इस वजह से ये तेजी से Poplar हो रहे हे।  

ऊपर दी गयी जानकारी ही Digital currency meaning in Hindi और Cryptocurrency Meaning In Hindi हे .

Cryptocurrency Me Nivesh Kaise Kare|क्रिप्टोकरेंसी में निवेश कैसे करे

Meaning of cryptocurrency in hindi

बिटकॉइन  कैसे ख़रीदे या क्रिप्टोकररेन्सी कैसे ख़रीदे. ये सवाल कई लोगो के मन में आता हे तो इस सवाल का जवाब आज हम आपको देंगे.

 How to sell and purchase bitcoin or cryptocurrency| bitcoin kaise kharide. cryptocurrency खरीदने के कुछ स्टेप्स हे जिसे आपको जानना चाहिए। 

Steps of investment of cryptocurrency 

 

  • आपको cryptocurrency exchange ढूंढना होगा। 
  • खरीदने के लिए ऑर्डर देना होगा।  
  •  ख़रीदा हुवा cryptocurrency या बिटकॉइन अच्छी तरीके से रखना होगा। 
  • अगआपके एक्सचेंज को आपके पेमेंट सिस्टम से कनेक्ट करना होगा। 

स्टेप १. आपको cryptocurrency exchane ढूंढना होगा।

क्रिप्टोक्यूरेंसी एक्सचेंज में आप को खाता खोलने के बाद आपको साइन करना पड़ेगा  साइन अप करने से आप क्रिप्टोक्यूरेंसी को खरीद, बेच  सकेंगे। 

क्रिप्टोक्यूरेंसी एक्सचेंजों के कई प्रकार हैं। अगल अलग कॉइन के  के एक्सचेंज होते हे.

 क्योंकि बिटकॉइन  विकेंद्रीकरण और व्यक्तिगत संप्रभुता के बारे में है, कुछ एक्सचेंज उपयोगकर्ताओं को गुमनाम रहने की अनुमति देते हैं। 

और उपयोगकर्ताओं को व्यक्तिगत जानकारी दर्ज करने की आवश्यकता नहीं होती है। 

अभी, हालांकि, सबसे लोकप्रिय एक्सचेंजों ने विकेंद्रीकृत नहीं किया है और उन्हें केवाईसी की आवश्यकता है। 

संयुक्त राज्य में, इन एक्सचेंजों में कुछ नाम रखने के लिए कॉइनबेस, क्रैकेन, मिथुन और बिनेंस यू.एस. शामिल हैं।

 इन एक्सचेंजों में से प्रत्येक में उनके द्वारा पेश की जाने वाली सुविधाओं की संख्या में काफी वृद्धि हुई है।

क्रिप्टोक्यूरेंसी एक्सचेंज अकाउंट बनाते समय ध्यान देने वाली एक महत्वपूर्ण बात ये हे की आपको  सुरक्षित इंटरनेट का  उपयोग करना है। 

इसमें दो-कारक प्रमाणीकरण का उपयोग करना और एक पासवर्ड का उपयोग करना शामिल है.

 इसमें आपको कई अक्षर वर्ण और संख्या शामिल करना हे जिससे आपका पासवर्ड मजबूत हो सके और उसे कोई हैक न कर सके।  

स्टेप २. आपके एक्सचेंज को आपके पेमेंट सिस्टम से कनेक्ट करना होगा।

  • क्रिप्टोक्यूरेंसी एक्सचेंज में अकाउंट बना लिया तो आपको इसे अपने जो भी डॉक्यूमेंट हे उसे जमा करने होंगे।

उसके बाद क्रिप्टोक्यूरेंसी एक्सचेंज आपके डाक्यूमेंट्स को वेरीफाई करेगा और आपके पेमेंट अकाउंट या बैंक अकाउंट  को उसक  लिंक करने। 

ये प्रकार जिसे हे जिस तरह आप demat account खुलता हो।  इस क्रिप्टोक्यूरेंसी एक्सचेंज को आप अपना डेबिट या क्रेडिट कार्ड भी लिंक करा सकते हो।  

 

स्टेप ३। खरीदने के लिए ऑर्डर देना होगा।

आपका क्रिप्टोक्यूरेंसी एक्सचेंज का अकाउंट और बैंक अकाउंट एक बार कनेक्ट हो गया तो आप नया आर्डर दे सकते हो और बिटकॉइन या अन्य क्रिप्टोकरेंसी खरीद  सकते हो।

 क्रिप्टोक्यूरेंसी एक्सचेंज अब बहुत ही सुविधा प्रदान करता हे जैसे शेयर एक्सचेंज प्रदान करता हे. 

 क्रैकन बाजार, भी अब शेयर मार्किट जैसा सीमा, स्टॉप-लॉस, स्टॉप-लिमिट, टेक-प्रॉफिट और टेक-प्रॉफिट लिमिटेड  के लिए अनुमति देता है।

 स्टेप ४.  ख़रीदा हुवा cryptocurrency या बिटकॉइन अच्छी तरीके से रखना होगा। 

 cryptocurrency  वॉलेट आपको आपका डिजिटल करेंसी सिक्योर रखने  सुविधा  हे।

  अगर आप डिजिटल करेंसी बाहर रख रहे हे तो आपको ये ख्याल रखना हे की उसकी सुरक्षा आपके हाथ में हे।

 क्रिप्टोक्यूरेंसी एक्सचेंज आपको आपके फंड को बाहर रखने की सुविधा भी प्रदान करता हे। 

कैसे काम करता है cryptocurrency

cryptocurrency इसी तकनीक का इस्तेमाल करते हे जिसे black chain technology कहते हे। 

 ये एक विकेन्द्रीकरण तकनीक का इस्तेमाल करते हे।  इससे उपभोक्ता अपने नाम का इस्तेमाल करके बैंक के बिना भी सिक्योर लेन देन कर सकते हे। 

 ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी सभी रिकॉर्ड पर चलते हे , जो इस cryptocurrency के इस्तेमाल करते हे उनका  जमा या देने का सभी रिकॉर्ड रखती हे।  

क्रिप्टोक्यूरेंसी की इकाइयां खनन नामक एक प्रक्रिया के माध्यम से बनाई जाती हैं, जिसमें जटिल गणित समस्याओं को हल करने के लिए कंप्यूटर शक्ति का उपयोग करना शामिल है जो सिक्के उत्पन्न करते हैं।

जो भी उसे  चाहते हे वो दलाल से खरीद भी सकते हे और उन्हें जमा कर सकते हे।  

क्रिप्टोकरेंसी माइनिंग क्या है | What Is Bitcoin Mining?

बिटकॉइन माइनिंग या cryptocurrency mining  एक ऐसा प्रोसेस हे जिस में कॉइन या बिटकॉइन मार्किट में या प्रचलन लाये जाते हे। 

या बिटकॉइन का निर्माण किया जाता हे, और ये सिर्फ कंप्यूटर पर जटिल गणित करके संभव हे.

इस प्रक्रिया या निर्माण को  बिटकॉइन माइनिंग या क्रिप्टोकोर्रेंसी माइनिंग कहते हे.

 यह बहूत एडवांस या उन्नत  कंप्यूटरों का उपयोग करके किया जाता है जो अत्यंत जटिल कम्प्यूटेशनल या गणित समस्याओं को हल करते हैं। 

इस में ब्लैक चैन का इस्तेमाल होता हे। 

माइनिंग के मदत से आप बिना पैसे दिए cryptocurrency पा सकते हो ।  

जो बिटकॉइन या अन्य डिजिटल करेंसी का खनन करते हे और उस ब्लॉक को पूर्ण करते हे उनको पुरस्कार के रूप में बिटकॉइन दिए जाते हे।

 इसमें ब्लॉक चेन एक पब्लिक लेजर शेयर करता है जहां सभी बिटकॉइन नेटवर्क्स होते हैं

यह एक जटिल और महगा प्रोसेस हे।  माइनिंग जैसे जैसे बढ़ता हे वैसा वैसा ये कम प्रॉफिट वाला  बन जाता हे .

अब तक १६ मिलियन बिटकॉइन तक माइनिंग की जा चुकी हे और करीब २१ मिलियन बिटकॉइन बाकि हे जिसे माइनिंग  हो।  

 

Cryptocurrency कोण कोनसी है | How many cryptocurrency available in the market ?

cryptocurreny mining in hindi

cryptocurrency बहुत सारी मार्केट में मिल रही हे , अलग अलग करेंसी के अलग अलग टेक्नोलॉजी पर डिपेंड हे। 

बिटकॉइन आने के बाद बहुत सारी digital currency मार्किट में आ गया हे।  आज करीब 5000 से ज्यादा digital currency मार्किट में आ गया हे।  

1.Bitcoin|बिटकॉइन

बिटकॉइन एक डिजिटल करेंसी हे जिसका कोई भौतिक  स्वरूप नहीं हे। उसे न आप देख सकते हो या छू सकते हो।  

बिटकॉइन एक ऐसी digital currency हे जो decentralize हे    जिसे आप बैंक जैसे मध्यस्थ के बिना सीधे खरीद, बेच और एक्सचेंज कर सकते हैं। 

इसके निर्माता  Satoshi Nakamoto ने एक इलेक्ट्रॉनिक  भुगतान प्रणाली जो क्रिप्टोग्राफ़िक पर आधारित हे इसका निर्माण कराया।

बिटकॉइन का लेन देन सार्वजनिक होता हे जिससे इसमें घोटाला या फर्जीवाड़ा होने से बचा जा सकता हे और  जिससे लेनदेन को रिवर्स और नकली के लिए मुश्किल हो जाता है।

इस बिटकॉइन को 2009 में मार्किट में लाया गया था।  तबसे इसकी कीमत लगातार बढ़ रही हे।  इसकी आपूर्ति 21 मिलियन सिक्कों तक सीमित है, इसलिए  इसकी कीमत  $ 150 से   $ 50000   तक बढ़ गयी हे. 

बिटकॉइन को लेन देन करने कोई शुल्क नहीं देना होता इसका अदन प्रदान निशुल्क होता हे। ये बहुत ही सुरक्षित हे और बहुत ही तेज भी हे।  

2.Ethereum

Ethereum meaning in hindi |Forsage Ethereum क्या है?

एथेरियम ओपन सोर्स ब्लॉक चैन हे और ये विक्रेंद्रित भी हे । 

यह किसी के हस्तक्षेप के बिना चलने और किसी के फ्रॉड , कण्ट्रोल  बिना  चलने ने में सक्षम बनता हे उसके लिए यह स्मार्टकंट्रैक्ट्स और डिस्ट्रिब्यूटेड एप्लिकेशन का इस्तेमाल करता हे।

 ईथर (ETH) का मूल  क्रिप्टोक्यूरेंसी है  { eth } पर बेस हे । बिटकॉइन के बाद ये दूसरा बड़ा बाजार हे जिसे लोक इस्तेमाल करते हे।  एथेरियम सबसे अधिक सक्रिय रूप से इस्तेमाल किया जाने वाला ब्लॉकचेन है।

ये एक ब्लैक चैन टेक्नोलॉजी पर चलने वाली कंप्यूटर प्रोगरामिंग लैंग्वेज भी  हे जिसे डेवेलपर्स को एप्लीकेशन बनाने में मदत कराती हे।  

२०१३ में इसे प्रोग्रामर विटालिक ब्यूटेरिन ने शुरू किया और बाकि डेवलपरने और विकसित किया। 30 जुलाई 2015 को 72 मिलियन करेंसी के साथ प्रस्तुत किया गया। 

3.Dogecoin

बैंकिंग के ट्रांसक्शन को फ्री करने के उद्देश्य से इसका निर्माण बिली मार्कस और जैक्सन पामर द्वारा किया गया। 

ये भी एक डिजिटल करेंसी हे जो cryptocurrency पर आधारित हे।  उन्हें कुत्ते के इमेज  इस्तेमाल किया हे उसे Shiba Inu dog  कहते हे। 

इस क्रिप्टोकोर्रेंसी की टेक्नोलॉजी litcoin पर बनी हुई हे।  इस डिजिटल करेंसी की खासियत ये हे की ये अल्गोरिथम का इस्तेमाल करता हे और इससे सस्ता और आसानी से मिल  जाता हे। 

elon musk के ट्वीट के बाद इसकी कीमत बहोत बढ़ गयी थी. और उसे बहुत प्रसिद्ध मिल गयी।

Dogecoin and elon Musk In Hindi 

डोगेकोईन और elon musk – elon musk ने dogecoin के  ट्वीट किया तबसे ये क्रिप्टोकोर्रेंसी में बहुत तेजी आ गयी।  elon musk ने ये ट्वीट किया की वो dogecoinfather हे।  उनके ट्वीट के बाद इसमें 25 % की ग्रोथ तुरंत दिखी।   

4.Ripple

Ripple Meaning In hindi – रिप्पल एक ऐसी क्रिप्टोकररेन्सी हे जिसे peer तो peer पावर से बनाया हे। 

ये एक क्रिप्टोकररेन्सी भी हे और डिजिटल पैमेंट सिस्टम भी हे। 

जिसे web  पर पैमेंट  भेजने के लिए तेज, सुरक्षित और तेज  तरीके से भेजने  के लिए इंटरनेट के साथ मूल रूप से काम करने के लिए डिज़ाइन किया गया है।

 इसे XRP नामक अपनी स्वयं की मुद्रा पर बनाया गया है। ripple का प्रोटोकॉल (RTGS), पर से जुड़ा हुवा हे।

 2012 में  इसका निर्माण और रिलीज़ किया गया था और क्रिस लार्सन और जेड मैककलेब द्वारा सह-स्थापित किया गया था।

 ये बिटकॉइन और एथेरियम के बाद सबसे ज्यादा जलने वाली करेंसी हे।  

Ripple Features In Hindi

१. रिप्पल के डिजिटल पैमेंट और प्रोटोकॉल के लिए ज्यादातर यूज़ किया जाता हे।  इसकी अपनी एक क्रिप्टोकररेन्सी हे XRP . 

२।  RIPPLE माइनिंग का इस्तेमाल नहीं करता बल्कि  सर्वर के एक समूह के माध्यम से सर्वसम्मति तंत्र का उपयोग करता है।

३. रिप्पल काम एनर्जी का इस्तेमाल कराती हे और बिटकॉइन से फ़ास्ट काम करता हे। 

Question and answer

    1.बिटकॉइन ट्रेडिंग क्या है?

बिटकॉइन ट्रेडिंग मतलब जो ट्रेनिंग बिटकॉइन मार्किट में होती हे। 

 बिटकॉइन डॉलर के मुकाबले जो भी प्राइस होती हे जो बिटकॉइन मार्किट लेता हे , और बेचते समय डॉलर के मुकाबले बिटकॉइन की जो भी प्राइस होती हे वो मिलता हे।  

जैसे शेयर मार्केट में करेंसी ट्रेडिंग होती हे वैसे बिटकॉइन मार्केट में ट्रेडिंग होती हे।  

    2.बिटकॉइन की शुरुआत कब हुई?

2009 में इसकी शुरुआत संतोषी नाकामोतो ने की थी। जब इसकी शुरुआत हुयी थी तब इसकी कीमत 0 $ थी।  

   3.2009 में बिटकॉइन की कीमत क्या थी?

0 $, जब इसकी शुरुआत हुयी थी तब इसकी कीमत 0 $ थी।  

   4.PI Network क्या है?

Pi network एक डिजिटल क्रिप्टो करेंसी है. यह अपने आप में पहली डिजिटल करेंसी है  जिसे Stanford PhD’s और Graduates की टीम ने बनाया है. इसे  अपने मोबाइल के द्वारा ही माईन कर सकते है.

  5.भारत में बिटकॉइन का भविष्य क्या है?

अभि तक भारत ऐसा low नहीं बनाया गया जिसे क्रिप्टोकररेन्सी रेगुलेट की जा सके।  लेकिन सरकार ने कंपनी को इसकी जानकारी मांगी हे जिन कंपनी ने इसमें इन्वेस्ट किया हे।  

सभी को आशा हे की सरकार इसको जल्दी मान्यता देगी।  

  6.क्रिप्टो करेंसी भारत में होगी बैन?

सुप्रीम कोर्ट ने सरकार  ऐसा कानून बना के लिए कहा हे जो इसे रेगुलेट करे।  मगर फ़िलहाल govt. ने इसपर रोक लगाई हे 

Conclusion

इस ब्लॉग में हमने जाना cryptocurrency Meaning In Hindi,और इससे आपको ये जानने में मदत मिलेगी की कैसे क्रिप्टोकररेंसी काम कराती है ,क्रिप्टोकररेंसी माइनिंग क्या है , बिटकॉइन क्या है.

 अगर भविष्य में क्रिप्टोकररेंसी में कोई अपडेट अत हे उसे जरूर आपके सामने प्रस्तुत करेंगे। धन्यवाद

Manoj

I am a banker and personal finance manager. I have more than 7 years of experience in the banking industry.

Leave a Reply