25 best lines for grandparents in hindi | मेरे दादाजी निबंध

best lines for grandparents in hindi | मेरे दादाजी निबंध  स्कूली छात्रों के लिए

आज आप मेरे दादाजी |निबंध पर एक निबंध लिखने जा रहे हैं। हर किसी का एक दादा होता है। वे सभी बच्चे कंपनी के प्रिय हैं। वे स्नेही और लाड़ प्यार करने वाले होते  हैं। दादा-दादी पर निबंध लिखना बहुत आसान है क्योंकि सभी के दादा-दादी होते हैं इसलिए उनके बारे में लिखना बहुत आसान है। 

मेरे दादाजी एक प्यार भरे स्वभाव के हैं। जब मैं छोटा था तब से मैं अपने दादा-दादी के साथ रहा करता हु । मेरे दादाजी घर के सबसे बुजुर्ग व्यक्ति हैं। सब उसका सम्मान करते हैं। मेरे दादा रक्षा बलों में थे।

 इसलिए हमें अनुशासन में   रहने  वो प्रेरित करते थे, उसमें उनका सख्त अनुशासन था। वह हमेशा इसके बारे में बात करते हे । 

हमारे गांव के सभी लोग उनका सम्मान करते हैं। वे भले ही उच्च शिक्षित न हों लेकिन उनके पास जो ज्ञान है वह एक विद्वान व्यक्ति की तरह है। 

मेरे दादा सुबह पांच बजे उठते हैं। वे नहाने के बाद खेत में जाते हैं और शाम को खेत  से वापस आ जाते हैं। मेरे दादी भी उनके साथ खेत में  जाती  हैं। मेरे दादाजी भी हमें छुट्टियों में खेतों में ले जाते हैं। 

मेरे दादाजी को खेती का बहुत शौक था और वे खेत में तरह-तरह के प्रयोग करते थे इसलिए उनके कई किसान उनसे मिलने आते हे । हम भी छुट्टियों में खेतों में जाया करते हे इसलिए खेतों से आकर वे हमें गाँव ले जाते और पूरे गाँवको घूमते और शाम को घर ले आते। 

हम उनके साथ नियमित रूप से मंदिर जाते हैं। दादा-दादी हमारा बहुत ख्याल रखते हैं। अगर हम खाना मांगते हैं, तो वे हमें खाना लाते हैं। दादाजी बहुत मेहनती और ईमानदार हैं। वे हमें हर दिन अच्छी बातें बताते हैं। 

कभी-कभी हमें वो  स्कूल तक छोड़ना के लिए आते है। वे  स्कूल से घर भी लाने आते हैं। हमारे दादा-दादी ने शिक्षा की कमी के कारण हमारे लिए अध्ययन नहीं किया, लेकिन उन्होंने हम पर पूरा ध्यान दिया। 

 

 उन्हें इस बात की परवाह थी कि हमअच्छे संस्कार हो । हम जिद्दी होते तो हमारे मामा के गांव में भी जाते । गांव के लोग उन्हें आदर से अन्ना कहते हे । 

हम उन्हें अन्ना के नाम से भी बुलाते हैं। हमारे सभी आंतरिक सार्वजनिक कार्यक्रमों में अन्ना सबसे आगे  रहते हे । वे सबकी मदद करते हैं। 

इसलिए  वे सभी के प्रिय हैं। हमारे घर में हर कोई उनसे पूछकर फैसला करता है।उनकी बात अंतिम शब्द है। वह हमारे घर में सभी से प्यार करता है। इनका जीवन साधा  लेकिन उच्च विचारों वाला होता है। 

हमारे दादाजी हमेशा अपने शरीर पर सदर और सिर पर टोपी पहनते हैं। हमारे  दादा एक स्वतंत्रता सेनानी थे। जब देश आजाद हुआ तो वह सेना में भर्ती हो गया। 

उन्होंने युद्ध में भी भाग लिया। उन पर गांधी जी के विचारों की छाप है, वे देश और मातृभूमि से बहुत प्यार करते हैं। उन्होंने हमें देश और काली मिट्टी का सम्मान करने के लिए भी कहते हे । इसी तरह हमारे दादा रहते हे। 

  हम उन्हें बहुत प्यार करते हैं और वो भी  हमसे बहुत प्यार करते हैं। 

अगर आपको हमारा best lines for grandparents in hindi | मेरे दादाजी निबंध  पसंद आया हो, तो कृपया इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें और नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में अपनी टिप्पणी छोड़ दें। 

read this also

1. varsha ritu essay in hindi

2. essay on drought in hindi

Leave a Comment